कला/संस्कृति  |   अनमोल प्रेरणा  |   हमारा संकल्प  |   अभिव्यक्ति  |   साहित्य सृजन  |  
विविधा

आपको उस गंदगी में से बाहर निकालने वाला हर इंसान आपका दोस्त नही होता क्यों की?

Posted on Wed, 20-Apr-2016

एक बार एक छोटी चिड़िया सर्दी में खाने के तलाश में उड़ कर जा रही थी , ठंड इतनी ज्यादा थी की उससे सहन नही हुई और खून...

जब श्रवण कुमार ने अपनी सबसे सुंदर पत्नी को घर से बाहर निकाला था तो?

Posted on Wed, 20-Apr-2016

प्राचीन समय में अंधे पति पत्नी के घर एक संतान पैदा हुई जिसका नाम उन लोगो ने श्रवण रखा, उन्होंने अपने बेटे का लालन पोषण...

'यदि महाराज एक रात्रि के लिए किसी ख़ुश व्यक्ति कि कमीज़ पहन कर सोएं तो.?'

Posted on Tue, 08-Mar-2016

एक बार एक राजा था। उसके पास सब कुछ था लेकिन वह सुखी नहीं था। वह समझ नहीं पाता था कि कैसे ख़ुश रहा जाए?...

जब फकीर ने राजा का अनुरोध स्वीकार कर लिया तो राजा मुश्किल में पड़ गया क्योंकि?

Posted on Tue, 08-Mar-2016

एक राजा ने किसी फकीर संत की प्रशंसा के किस्से सुने तो उसके दर्शन करने वहां पहुंच गए। मुलाकात के बाद राजा...

बेटा! नन्ही-सी उम्र में तेरी ऐसी अच्छी बुद्धि और अच्छी भावना??.

Posted on Mon, 15-Feb-2016

एक बड़े देश की रानी को बच्चों पर बड़ा प्रेम था। वह अनाथ बालकों को अपने खर्च से पालती-पोसती। उसने यह आदेश दे रखा...

हसना झूठी बातों पर

Posted on Thu, 21-Jan-2016

नयनों में छायी तृष्णा,

सूनापन मन के जज्बातों पर...

जरूरत

Posted on Thu, 21-Jan-2016

शराब को प्रायः सभी जगह बुरा माना जाता है; पर क्या यह किसी की जरूरत भी हो सकती है ? शायद हां, शायद नहीं। अब तक...

मै एक महिला हूँ ??

Posted on Mon, 18-Jan-2016

बचपन की आनाकानी में,
या हो बेबस जवानी में।
लुटती हर वक्त है वो...

जनम

Posted on Mon, 18-Jan-2016

गोपाला ने अपना एक झोला और बैग लिया और ट्रेन में बैठ गया, ये ट्रेन दुर्ग से जगदलपुर जा रही थी। गर्मी के दिन थे...

'पापा अब मेरे पास 100 रूपये जमा हो गए है' , क्या आज मेरे साथ खाना खाओगे?..

Posted on Wed, 13-Jan-2016

एक व्यक्ति office में देर रात तक काम करने के बाद थका -हारा घर पहुंचा। दरवाजा खोलते ही उसने देखा कि उसका पांच वर्षीय बेटा...

एक मनुष्य ने तितली के जीवन को खत्म ही कर दिया

Posted on Wed, 13-Jan-2016

एक बार एक आदमी को अपने बगीचा में टहलते हुए किसी टहनी से लटकता हुआ एक तितली का कोकून दिखाई पड़ा। अब हर रोज़...

पेंसिल से जीने की सबसे बड़ी सिख

Posted on Wed, 13-Jan-2016

एक बालक अपनी दादी मां (grand mother) को एक पत्र लिखते हुए देख रहा था। अचानक उसने अपनी दादी मां से पूंछा...

स्वामी विवेकानन्दः विश्व विख्यात वेदान्त के पर्याय

Posted on Tue, 12-Jan-2016

वेदान्त के विख्यात और प्रभावशाली आध्यात्मिक गुरु थे। उनका वास्तविक नाम नरेन्द्र नाथ दत्त था । उन्होंने अमेरिका...

बसंत का आना

Posted on Thu, 07-Jan-2016

गांव जाने का फैसला किया। गांव प्रस्थान करने से पूर्व वह सोच में डूबा हुआ था। रामू ने उनकी विचार तंद्रा को भंग करते हुए पूछ...

गुस्सा खाया आदमी

Posted on Thu, 07-Jan-2016

वह हट्टा-कट्टा आदमी उसे ताबड़तोड़ पीटे जा रहा था-कभी घूंसा, कभी चपत, कभी लात या फिर गाली ही। पिट रहे आदमी...