जब चाणक्य की इस बात पर सब लोगों ने की हाथ जोड़ कर प्रशंसा?

May 09 / 2016

चाणक्य एक महान राजनेतिज्ञ सलाहकार थे। ऐसा कहा जाता हैं कि भगवान श्री कृष्ण ने गीता में राजनीति के लिए जो भी कहा वास्तव में उस नीति पर चाणक्य ने अमल किया जिसे हम चाणक्य नीति के नाम से सुनते एवम पढ़ते हैं।

एक बार की बात हैं, मगध में चाणक्य कुछ राजकीय कार्य कर रहे थे। रात्रि होने पर उन्होंने दीपक जलाया और अपना काम जारी रखा। उसी समय चाणक्य से मिलने कुछ लोग आये। उन्होंने चाणक्य से कुछ विचार विमर्श हेतु समय माँगा।

चाणक्य ने उनसे पूछा- बात राजकीय विषय की हैं अथवा निजी ? उन लोगो ने कहा उन्हें कुछ निजी बात हेतु सलाह लेनी हैं। तभी चाणक्य उठे और उन्होंने दीपक बुझाकर, नया दीपक जलाया। उनका यह व्यवहार देख कर वहाँ आये लोगो से चाणक्य से सवाल किया कि जब दीपक में पर्याप्त तेल था, तब उन्होंने उसे बुझाकर अन्य दिया क्यूँ जलाया ? इस प्रश्न पर चाणक्य से सरलता से उत्तर दिया – मैं अब तक राजकीय कार्य कर रहा था पर अब आपसे कुछ निजी विषय पर वार्ता होगी।

इसलिए मैंने दीपक बदला क्योंकि पहले दीपक में राजकोष के धन से लाया हुआ तेल था जिस पर राज्य का अधिकार हैं और अब इस दीपक में मेरे द्वारा कमाये हुए धन का तेल हैं जो मेरे निजी कार्यों में मेरे द्वारा उपभोग किया जायेगा।

यह सुनकर सभी लोगो ने चाणक्य के सामने हाथ जोड़ कर उनकी प्रशंसा की और कहा जहाँ चाणक्य जैसा ईमानदार राजकीय सेवक हैं वहाँ भ्रष्ट्राचार का परिंदा भी पर नहीं मार सकता।

 

  Related News  

जब श्रवण कुमार ने अपनी सबसे सुंदर पत्नी को घर से बाहर निकाला था तो?

Posted on 20-Apr-2016

प्राचीन समय में अंधे पति पत्नी के घर एक संतान पैदा हुई जिसका नाम उन लोगो ने श्रवण रखा, उन्होंने अपने बेटे का लालन पोषण...

संगीत के क्षेत्र में ब्राइट है करियर

Posted on 10-Nov-2015

संगीत का जादू आज भी सिर चढ़कर बोलता है और धुनों पर सहसा कब शरीर में थिरकन की शुरुआत हो जाती है, इसका आभास...

काम को नुकसान पहुंचाए बिना कैसे लें ऑफिस से छुट्टी

Posted on 21-Jul-2015

काम, काम और काम.... अक्‍सर ये जुमला कहते हुए सभी आॅफिस में काम करते रहते हैं. अगर आप भी ऐसा बोलने लगे हैं तो समझ...

बच्‍चे को जरुर सिखाएं ये 7 जरूरी बातें

Posted on 22-Jun-2015

बचपन से ही जो आदतें आप अपने बच्चों को सिखाते हैं वही आदतें सारी उम्र बच्चे के साथ चलती है और उसके अनुसार ही उसकी...

मुश्किल नहीं सिलेबस रिवाइज करना

Posted on 26-May-2015

रीक्षाओं के समय जितना तनाव परीक्षार्थियों यानी बच्चों को होता है उससे कम तनाव मां-बाप को नहीं होता और इसी तनाव...

अब हाथ मिलाने से पता चलेगा आपकी हेल्थ के अहम राज!

Posted on 15-May-2015

किसी से मिलते समय हाथ मिलाना आम बात है, लेकिन आपके डॉक्टर के लिए यह काम ब्लड प्रेशर चेक करने से भी ज्यादा अहम है...

बहुआयामी बनें सफलता कदम चूमेगी

Posted on 05-May-2015

आज की तारीख में किसी एक क्षेत्र में एक्सपर्ट होने का मतलब है कि आप विशेषज्ञ हैं और किसी एक ही विषय के संबंध में...

कामयाब प्रोफेशनल!

Posted on 21-Apr-2015

नौकरी या खुद का काम करने वाले में से हर कोई प्रोफेशनल नजरिया नहीं डेवलप कर पाता। वास्तविक प्रोफेशनल वही है...

सुख की कामना है तो मानसिक जंजीरों को खोलना होगा

Posted on 11-Mar-2015

अचानक उसे सड़क के किनारे बंधे हाथियों को देखा और वह रुक गया। उसने देखा कि हाथियों के अगले पैर में एक रस्सी बंधी...

टिप्स की तराजू पर खुद को तौलें और नौकरी पाए

Posted on 14-Feb-2015

आजकल हर कोई बढिया नौकरी की तलाश के लिए कई पापड़ बेलता है पर बढिया नौकरी मिल पाना मुश्किल ही नहीं ब्लकि नामुमकिन...